अब एक सप्ताह में मिलेगा आईएसबीएन नंबर

केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने एक समारोह में इंटरनेशनल स्टैंडर्ड बुक नंबर (आईएसबीएन) के पंजीकरण और आबंटन के लिए आईएनबीएन पोर्टल लांच किया। इस पोर्टल पर आईएसबीएन नंबर के लिए यदि कोई आवेदन करता है तो उसे एक सप्ताह के अंदर वह मिल जाएगा। किताबों के फ्री डाउनलोड को लेकर प्रकाशकों और लेखकों की चिंता पर उन्होंने कहा, हम अन्य विभागों से बातचीत कर इस पर दिशा-निर्देश जारी करेंगे। हमारी कोशिश है कि किसी भी लेखक के अधिकारों का हनन न हो।किताबें लिखते हैं और उसका अंश राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रकाशित करना चाहते हैं उनके लिए इसी जरूरत के आधार पर हम एक एप भी बनाएंगे।  ईरानी ने कहा कि आईएनबीएन पोर्टल कम समय में तैयार किया गया है, ताकि आईएनबीएन आॅनलाइन से प्रकाशक और लेखक को सुविधा मिल सके। यह प्रणाली प्रकाशकों के साथ-साथ लेखकों को भी निर्धारित समय में त्वरित और कुशल सेवा देगी। उन्होंने आशा व्यक्त की कि इस पहल से छोटे शहरों के प्रकाशक और लेखक भी लाभान्वित होंगे। इंटरनेट से लेखकों के कार्यों के आॅनलाइन बुक्स (online books)  के फ्री डाउनलोड समस्या के बारे में उन्होंने आश्वासन दिया कि इलेक्ट्रानिक तथा सूचना प्रौद्योगिकी विभाग सहित संबद्ध मंत्रालयों के साथ इस विषय पर बातचीत की जाएगी और इसे राज्यों के साथ भी साझा किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि जो लेखक प्रादेशिक या क्षेत्रीय भाषा में अपनी

No comments:

Theme images by sndr. Powered by Blogger.