दिल्ली में आज अनोखी किताब रैली

दिल्ली विश्वविद्यालय के शिक्षक अपनी मांगो को लेकर गुरुवार को राजधानी में एक अनोखी किताब रैली करने जा रहे हैं जिसमे वे हाथो में किताब (books) लेकर सडकों पर मार्च करेंगे। दिल्ली विश्विद्यालय शिक्षक संघ(डूटा) की ओर से आयोजित इस रैली में सैकड़ों  शिक्षक अंबेडकर स्टेडियम से विश्वविद्यालय अनुदान आयोग(यूजीसी) के दफ्तर तक हाथों में किताबें लिए मार्च करेंगे। ये शिक्षक यूजीसी के दफ्तर के सामने किताबों को विरोधस्वरूप छोड़ जाएंगे। डूटा की अध्यक्ष नंदिता नारायण के अनुसार यह किताब रैली प्रतीकात्मक है जिसका अर्थ यह है कि सरकार की वर्तमान नीतियों के कारण उच्च शिक्षा बर्बाद हो रही है इसलिए शिक्षक  अपनी किताबों को यूजीसी के सामने छोड़कर यह सन्देश देंगे कि उन्हें मजबूरी में किताबों का त्याग  करना पड़ रहा है। गौरतलब है कि ये शिक्षक ए पी आई प्रणाली को ख़त्म करने तथा अपनी पदोन्नति की व्यस्था को लेकर मांग कर रहे हैं। इन शिक्षको ने गत दिनों मंडी हाउस पर कैंडल मार्च भी निकाला था और यूजीसी का घेराव भी किया था , लेकिन पहली बार शिक्षक किताबों के साथ रैली कर रहे हैं। यूजीसी ने उनके काम के घंटे कम किये हैं लेकिन छात्रों द्वारा अध्यापकों के मूल्याझ््कन की व्यस्था शुरू की है जिसका विरोध शिक्षक कर रहे हैं।

No comments:

Theme images by sndr. Powered by Blogger.