प्रणब और मोदी ने की उपराष्ट्रपति की पुस्तक ‘सिटीजन एंड सोसायटी’ का विमोचन

नई दिल्ली। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज यहां राष्ट्रपति भवन में उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी की पुस्तक ‘सिटीजन एंड सोसायटी’ का विमोचन किया। इस अवसर पर के मौके पर बोल रहे थे। ने आज कहा कि भारतीय लोकतंत्र ‘थोड़ा शोर-शराबे वाला’ है लेकिन यदि यह अपने समक्ष मौजूद मुद्दों पर गौर करता है तो उसका हमेशा ही अच्छा लाभ मिलता है। पुस्तक जारी करने के बाद राष्ट्रपति ने कहा, लोकतंत्र हमेशा शोर शराबे वाला होता है। शायद हमारा लोकतंत्र थोड़ा ज्यादा शोर-शराबे वाला है। लेकिन यदि हम अपने आप को मुद्दों के प्रति लगाते है। तो उसका हमेशा फायदा होता है। उसका हमेशा अच्छा लाभ होता है। इस मौके पर प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत में नागरिक और समाज के बीच एक इकाई है जो परिवार की तरह है और हमारी सबसे बड़ी ताकत है।  उन्होंने कहा कि भारत को इतनी सारी बोलियों, भाषाओं एवं आस्थाओं वाला देश होने का गर्व है जो सौहार्द्रपूर्ण सह-अस्तित्व में रहते हैं तथा ‘इस स्थिति के लिए सभी नागरिकों ने अपना योगदान दिया है। पुस्तक के लेखक उपराष्ट्रपति ने कहा कि एक खुले समाज में अधिक बहस की जरूरत होती है। उन्होंने कहा, हमारी तरह के एक खुले समाज को और बहसों तथा अपरंपरागत विचारों के लिए व्यापक बहस की जरूरत है। हमारे तरह के बहुलवादी समाज को असहिष्णुता से बढ़कर विविधता को गले लगाने की ओर बढ़ने की मानसिकता विकसित करने की जरूरत है। यह पुस्तक विविध विषयों पर अंसारी के भाषणों का संग्रह है। विमोचन के बाद यह पुस्तक सभी आॅनलाइन बुक्स स्टोर  पर उपलब्ध होगी जहां से आप इसे खरीद (buy books online)सकते हैं। इससे कुछ माह पहले राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी द्वारा लिखी गई पुस्तक ‘द ट्रबूलेंट ईयर : 1980-1996’ (THE TURBULENT YEARS : 1980-1996) का विमोचन हुआ था। 

No comments:

Theme images by sndr. Powered by Blogger.